पहली बारिश में ही गौर गांव नाला में बाढ़ जैसी स्थिति, आवागमन बाधित

Raipur News Today मैनपुर। ब्लॉक मुख्यालय से 35 किलोमीटर दूरी पर स्थित ग्राम पंचायत गौर गांव की आश्रित ग्राम घोटिया भर्री कि कोर काल नाला में रात में बारिश होने से बाढ़ आ गई है, जिससे आवागमन तरह बाधित हो गया है । खेती किसानी के लिए खाद बीज से भरे पिकअप बाढ़ में फंस गई है।

किसानों को बड़ी चिंता हो रही है कि समय पर उन्हें खेती किसानी करनी है। हमेशा से ही यही नाला में थोड़ी बारिश में ही पानी आने से लोग परेशान हो जाते हैं। उन्हें खाद बीज लाने एवं खेती किसानी करने में बड़ी दिक्कत होती है। बच्चों को स्कूली शिक्षा प्राप्त करने के लिए भी भारी दिक्कतों की सामना करनी पड़ती है यदि किसी को अचानक तबीयत खराब हो जाने से 108 भी नहीं पहुंच पाता। उसे लोग डलिया बनाकर पार करते हैं तब जाकर इलाज होती है। बरसात में ऐसी ही स्थिति निर्मित हो जाती है। आने-जाने की कोई रास्ता नहीं है किसी भी रास्ता में आने जाने की कोशिश करते हैं तो केवल कोर काल नाला ही लोगों को आवागमन में रोक देती है।

खेती-किसानी के लिए ला रहे खाद बीज से भरे पिकअप घंटों फंसे रहा

कई बार धरना-प्रदर्शन भी किया गया है इलाके के लोग बार-बार नाला पर पुलिया निर्माण की मांग करते हुए थक चुके है। शासन प्रशासन के द्वारा इस नाला पर पुल निर्माण नहीं की जाती है। कई बार इस नाला पर पुलिया निर्माण के लिए धरना प्रदर्शन एवं चुनाव बहिष्कार जैसे बात सामने आई है उसके बाद भी प्रशासन इस पर ध्यान नहीं देता है। ग्रामीण जनों का कहना है कि छत्तीसगढ़ की तस्वीर बदल गई है लेकिन इस नाला की पुल निर्माण कब होगी। लोगों का कहना है कि सिर्फ आश्वासन ही मिलता है।